PM Vishwakarma Yojana

PM Vishwakarma Yojana: मा. प्रधानमंत्रीजी ने 17 सितंबर को विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर PM Vishwakarma Yojana का उद्घाटन किया है | इस योजना के अंतर्गत देश के 18 प्रकारके पारंपरिक कारीगरों को 3 लाख रुपये तक कम ब्याज पे कर्ज दिया जायेगा इसके साथ अनेक लाभ भी मिलेंगे | इस योजना के लिए केंद्र सरकार ने 13000 करोड़ का बजेट पहले से ही रखा है | इस योजना के तहत परंपरागत कारीगरों को लोन दिया जायेगा इसके साथ अपने कौशल्य को बढ़ने के लिए आवश्यक प्रशिक्षण की सुविधा भी मिलेगी | जिससे परंपरागत कारीगर अपने कौशल्य को और अच्छी तरह से कर सके |

PM Vishwakarma Yojana क्या है |

  • इस पी.एम. विश्वकर्मा योजना के तहत देश के पारंपरिक कारीगरों को अपने और उनके काम को नयी पहचान देना | और उनको अपने काम को बढ़ने में पूरी तरह का सहयोग करना |
  • कारीगरों के कौशल्य को और बढाने के लिए योग्य रूप से प्रशिक्षण देना, कौशल्य को निखारने में मदद करना |
  • उनकी काम करने की क्षमता, उत्पादकता और उस उत्पादन की गुणवत्ता को बढ़ने के लिए कारीगरों को जरुरी साधन प्रदान करना |
  • डिजिटल आदान प्रदान को बढ़ावा देने के लिए डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहन देना |
  • इस योजना के तहत कारीगरों को जल्द से जल्द और कम ब्याज पर कर्ज देना |
  • अपने काम की तरक्की के नए अवसरों को बढ़ने के लिए अपने ब्रांड का प्रचार और बाजार लिंकेज के लिए एक मंच तयार करना|

पी.एम. विश्वकर्मा योजना के फायदे

इस पी.एम. विश्वकर्मा योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करने के बाद लाभार्थी को विश्वकर्मा प्रमाणपत्र मिलेगा, इससे कारीगर को एक अलग पहचान मिलेगी | इसके साथ कारीगर को अपने कौशल्य को बढ़ने के लिए प्रशिक्षण चाहिए तो वो 500 रुपये प्रतिदिन प्रशिक्षण स्टाईपेंड पर 5 – 7 दिन का प्रशिक्षण भी ले सकता है | इसके अलावा 15 दिन के उन्नत प्रशिक्षण के लिए भी नामांकन कर सकता है | अपने काम को बढाने के लिए 15000 रूपये के टूलकिट के लिए अनुदान दिया जायेगा |

इसके साथ साथ कारीगार को कुल 3 लाख रूपये का कम ब्याज का लोन दिया जायेगा | जिसमे से 1 लाख रूपये शुरुवात में दिए जायेंगे जो 18 महीने के पुनर्भुगतान के लिए दिए जायेंगे | ये कर्ज का भुगतान करने के बाद 2 लाख रूपये की किश्त दी जाएगी  जो 30 महीने में पुनर्भुगतान के लिए होंगी | इस कर्ज पर 8% तक अनुदान मिलेगा, और लोन की रकम पर सिर्फ 5% दर ब्याज चुकाना होगा |

डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए हर 100 रूपये के डिजिटल व्यवहार पर रूपये 1 तक प्रोत्साहन पर मिलेंगे | अपने काम के मार्केटिंग के लिए नेशनल कमिटी फॉर मार्केटिंग यह संस्था गुणवत्ता और प्रमाणक, ब्रांडिंग और प्रचार के लिए, ई- लिंकेज, जाहिरात और प्रसिधी के लिए सेवा प्रदान करेगी |

PM Vishwakarma Yojana की पात्रता

  • लाभार्थी की आयु रजिस्ट्रेशन की तारीख को 18 वर्ष पूरी होनी चाहिए |
  • कारीगर जो काम करता है, वो काम इस योजना में दिए गए 18 पारंपरिक काम में से एक होना चाहिए, सिर्फ उस 18 कामों के लिए ही यह योजना लागु होती है |
  • इस योजना के आवेदन (रजिस्ट्रेशन ) के समय लाभार्थी ने पिछले 5 साल में राज्य सरकार या केंद्र सरकार के किसी भी कर्ज योजना का लाभ नहीं लिया होना चाहिये |
  • इस योजना का लाभ परिवार के सिर्फ एक ही व्यक्ती को मिलेगा | मतलब पति – पत्नी, उनके अविवाहित बच्चे उनमेंसे किसी एक व्यक्ती ही इस योजना के लिए पात्र हो सकता है |
  • शासकीय सेवा में कार्यरत किसी भी सरकारी नौकर को इस सेवा का लाभ नहीं मिलेगा | इसलिए लाभार्थी या फिर परिवार का कोई भी सदस्य शासकीय नौकरी में नहीं होना चाहिए |

किस कारीगरों को मिलेगा योजना का लाभ

बढई

लोहार

सुनार

नाई

धोबी

दर्जी

कुम्हार

मालाकार

अस्राकार

राजमिस्त्री

जूता बनानेवाले

ताला बनानेवाले

नाव बनानेवाले

मुर्तिकार, पत्थर तोड़नेवाले

टोकरी, चटाई, झाडू बनानेवाले  

हतौडा और टूलकिट निर्माता

पारंपरिक गुडीया और खिलौना निर्माता

फिशिंग नेट निर्माता (मछली पकड़ने का जाल बनाने वाले )

योजना के आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज

आधार कार्ड

पहचान पत्र

निवास पत्र

मोबाइल नंबर

जाती प्रमाणपत्र

बैंक अकाउंट पासबुक

फोटो

 PM Vishwakarma Yojana का आवेदन कैसे करें

पी.एम. विश्वकर्मा योजना के https://pmvishwakarma.gov.in/ इस अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आप अपना आवेदन (रजिस्ट्रेशन) कर सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *