Chandrayaan 3 update

Chandrayaan 3 update –

भारत ने अपनी बहुप्रतीक्षित चंद्रयान मोहिम ‘चंद्रयान ३’ (Chandrayaan 3) १४ जुलाई को लॉच हुई थी | ‘चंद्रयान २’ इस मोहिम में चाँद पर सॉफ्ट लैंडिंग करने का लक्ष रखा था, मगर कुछ तकनिकी खराबी की वजह से लैंडिंग हो नहीं सका | मगर उसका ऑर्बिटर आज भी चाँद का चक्कर लगा रहा है | इसलिए उस वक्त अधुरा रहा कम चंद्रयान ३ (Chandrayaan 3) के माध्यम से पूरा करने का लक्ष है | ‘चंद्रयान २’ के वक्त जो गलतिया हुई है, इससे सिखकर और ज्यादा तैयारी के साथ यह मिशन हाथ में लिया है | कल बुधवार १६ अगस्त सुबह ‘चंद्रयान ३’ चाँद की पांचवी कक्षा में कामयाबी के साथ प्रवेश कर दिया है | और आज १७ अगस्त को इसका एक और महत्वपूर्ण चरण पूरा होने वाला है, ‘चंद्रयान ३’ (Chandrayaan 3) का लैंडर मोडयुल और प्रोपल्शन मोडयुल दोनों अलग अलग होगे | तसेच इसरो (ISRO) के मुख्य अधिकारी ने बताया है की, “चंद्रयान ३ के सब तकनिकी चीजें यशस्वी रूप से कम कर रहे है”| इस बात से इस मोहिम की कामयाबी की संभावना बढ़ जाती है |

कब होंगे लैंडर मोडयुल और प्रोपल्शन मोडयुल अलग ?

१४ जुलाई को भेजे गए ‘चंद्रयान ३’ (Chandrayaan 3) ५ अगस्त को चाँद की कक्षा में प्रवेश किया | और आज वो चाँद के बहुत नजदीक आ गया है | ‘चंद्रयान ३’ (Chandrayaan 3) के लैंडर मोडयुल (विक्रम) और प्रोपल्शन मोडयुल दोनों १७ अगस्त को दोपहर ०१ बजकर ०८ मिनिट में अलग अलग होंगे |

‘चंद्रयान ३’ (Chandrayaan 3) कब होंगा लैंडिंग ?

‘चंद्रयान ३’ भेजने से आजतक सब कुछ ठीक चल रहा है, तय की गये सारे काम कामयाबी से हो रहे है | अब तक की यात्रा की तरह आगे भी सब कुछ ठीक रहा तो आज से करीब एक हफ्ते बाद २३ अगस्त को ‘चंद्रयान ३’ (Chandrayaan 3) चाँद के दक्षिण ध्रुव (South Pole) पर कामयाबी के साथ लैंडिंग करेगा | और इसके साथ साथ देश की कामयाबी में एक नया अध्याय लिखा जायेगा | भारत विश्व का ऐसा ४ था देश होगा, जो कामयाबी के साथ चाँद पर पहुंचा हो | अब तक सिर्फ रशिया, अमेरिका और चीन ही इस मोहिम में कामयाब हो पाए है |

और इसके लैंडिंग होने के बाद रोव्हर ‘प्रज्ञान’ १४ दिन जो चाँद का १ दिन होता है, इतने समय तक चाँद का चक्कर लगाकर पृथ्वी का अभ्यास करेगा | इसके साथ साथ दक्षिण ध्रुव पर पानी के अस्तित्व का पता चला है, तो वही पर पानी के बारे में और जानकारी हासिल करके वो भेजेगा | इसके साथ साथ चाँद की सतह का अभ्यास भी करेगा | और ये सब की वजह से चाँद के बारे में और भी महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाएगी | और चाँद को जानना और भी सहज हो जायेगा |

‘चंद्रयान ३’ (Chandrayaan 3) मोहिम के आखिर में कठनाईया

‘चंद्रयान ३’ २३ अगस्त को चाँद पर लैंड करने वाला है | मगर चाँद के दक्षिण ध्रुव पर उतरना इतना आसान भी नहीं है | लैंडिंग में चाँद के अपने और बाहरी भी कई संकट है |

  • चाँद के दक्षिण ध्रुव पर आज तक कोई भी नहीं उतरा, क्यों की दक्षिण ध्रुव पर उतरना मुश्किल है |
  • चाँद पर वातावरण ना के बराबर है, इसलिए इस पर सॉफ्ट लैंडिंग करना काफी मुश्किल है |
  • चाँद के दायीरेमे और भी पुराने उपग्रह, भारत के चंद्रयान २ का ऑर्बिटर उसके साथ कई देशों के उपग्रह और ऑर्बिटर आज भी घूम रहे है | इससे चाँद पर ट्राफिक जैम जैसी स्थिति हो गयी है | इससे टकराने का खतरा भी है |
  • रशिया ने अपना ‘लूना २५’ यह यान भी ११ अगस्त को चाँद पर भेजने के लिए लॉन्च कर दिया है | रशिया का यान भी दक्षिण ध्रुव पर लैंड होगा और वो भी शायद २३ अगस्त के आसपास ही होगा | इसलिए चाँद पर भीड़ बढ़ने वाली है | इन सब को ध्यान में रखते हुए चाँद पर सॉफ्ट लैंडिंग करना काफी मुश्किल है |

One thought on “Chandrayaan 3 update – चंद्रयान ३ पहुंचा चाँद तक, आज होगा लैंडर और प्रोपल्शन मोडयुल अलग |”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *